अहा , ग्राम्य जीवन भी क्या है ...?re simple than village life...

Some true stories about village life

जोधपुर के आसपास ग्राम्य जीवन की झलकियाँ

शनिवार, 15 अगस्त 2009

रामू काका


यह रामू काका का परिवार है मैं अपने विदेशी मित्रों को इनसे मिलने ले जाता हूँ इस चित्र में फ्रांस के डेविड ने रामू काका की पगड़ी पहन रखी है गाँव में आज भी संयुक्त परिवार प्रथा कायम है प्रत्येक व्यक्ति अपना जीवन परिजनों के बीच ही गुजारता है ,जो की पश्चिम में सम्भव नही है वहां वृद्ध अपना संध्या काल ओल्ड एज होम में गुजारते हैं रामू काका अपने मेहमानों का खुले दिल से स्वागत करते हैं अपनी कामचलाऊ अंग्रेजी में मेहमानों को ग्राम्य जीवन की जानकारी देतें हैं और उनकी जिज्ञासा शांत करते हैं

8 टिप्‍पणियां:

  1. Bahut Barhia...isi tarah likhte rahiye...

    http://hellomithilaa.blogspot.com
    mithilak gap...maithili me

    http://mastgaane.blogspot.com
    Manpasand Gaane

    http://muskuraahat.blogspot.com
    Aapke Bheje Photo

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपने ब्लॉग के माध्यम से आपने जो अनूठी पहल की है,
    उसके लिए आप बधाई के पात्र हैं!
    मेरी शुभकामनाएँ स्वीकार कीजिए!

    उत्तर देंहटाएं
  3. ब्लोगिंग जगत में आपका स्वागत है. आपकी सार्थकता के लिए शुभकामनाएं. जारी रहें.
    ----
    जश्ने-आजादी की बहुत-बहुत शुभकामनाएं. आज़ादी मुबारक हो.
    ----
    उल्टा तीर पर पूरे अगस्त भर आज़ादी का जश्न "एक चिट्ठी देश के नाम लिखकर" मनाइए- बस इस अगस्त तक. आपकी चिट्ठी २९ अगस्त ०९ तक हमें आपकी तस्वीर व संक्षिप्त परिचय के साथ भेज दीजिये.
    आभार.
    विजिट करें;
    उल्टा तीर
    http://ultateer.blogspot.com
    अमित के सागर

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही अच्छा लगा यहां आकर....आभार.

    चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है.......भविष्य के लिये ढेर सारी शुभकामनायें.

    गुलमोहर का फूल

    उत्तर देंहटाएं
  5. अरे वाह ये बढ़िया काम कर रहे हैं आप लेकिन, ये बताइए विदेशी मित्रों के जरिए रामू काका जैसे लोगों की जेब में भी कुछ जा रहा है क्या

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप लोगों ने जो होंसला अफजाई की है उसके लिए मैं आपका आभारी हूँ |रामू काका की तरह के लोग बड़े खुद्दार होते हैं उनकी मदद का एक अंदाज होता है आपका भी जोधपुर में स्वागत है खुद ही देख लीजिएगा |

    उत्तर देंहटाएं
  7. आप की रचना प्रशंसा के योग्य है . आशा है आप अपने विचारो से हिंदी जगत को बहुत आगे ले जायंगे
    लिखते रहिये
    चिटठा जगत मे आप का स्वागत है
    गार्गी

    उत्तर देंहटाएं

कुछ तो कहिये हम आपकी राय जानने को बेताब हैं